10+Sad Shayari In Hindi Font Or Sad SMS 2109 | हिंदीशायरी

Sad Shayari

Sad Shayari

1.बिना बताये उसने ना जाने क्यों ये दुरी करदी बिछड़ के उसने मोहब्बत ही अधूरी करदी मेरे मुकद्दर में गम आये तो क्या हुआ खुदा ने उसकी ख्वाहिश पूरी करदी

2.जुदा किसी से किसी का ग़रज़ हबीब ना हो ये दाग़ वो है की दुश्मन को भी नसीब ना हो

Sad Shayari

Sad Shayari

3.एक अजीब दास्तान है मेरे अफ़साने की मैंने पल पल की कोशिश उसके पास जाने की नसीब था मेरा या साजिश ज़माने की दूर हुई मुझसे उतनी जितनी उम्मीद थी करीब आने की

4.रोज ढलती हुई शाम से डर लगता है अब मुझे इश्क के अंजाम से डर लगता है जब से मिला है धोखा इस इश्क में तब से इश्क के नाम से भी डर लगता है

Sad Shayari

Sad Shayari

5.रहेगा इश्क तेरा ख़ाक में मिला के मुझे की इब्तिदा में हूँ रंज इंतिहा के मुझे दिया है हिज्र में दुःख दर्द किस बला के मुझे शब-ऐ-फ़िराक़ ने मारा लिटा लिटा के मुझे

6.दर्द कितने है  बता नहीं सकता जख्म कितने है दिखा नहीं सकता आँखों से समझ सको तो समझ लो आंसू गिरे है कितने गिना नहीं सकता

Sad Shayari

Sad Shayari

7.तुझको पाकर भी कभी तो खोना था ये हादसा मेरे साथ कभी तो होना था वो तोड़कर अक्सर दिल मेरा फिर जोड़ता रहा जैसे मैं उसके हाथ का कोई खिलौना था

8.जिस दिन मेरी अर्थी इस दुनिया से विदा होगी एक अलग समां होगा एक अलग बात होगी कहना उस बेवफा से मर गए तुम्हारे चाहने वाले अब ना हम है और ना हमारी बातें होगी

Sad Shayari

Sad Shayari

9.हमने तो बस इतना ही सीखा है दोस्तों राह-ऐ-मोहब्बत में कभी किनारा नहीं मिलता जो मिल जाये इस राह पर कभी यार से वो जख्म कभी फिर दोबारा नहीं सिलता

10.जीते जी हम तो गम -ऐ-फ़र्दा की धुन में मर गए कुछ वही अच्छे है जो वाक़िफ़ नहीं अंजाम से

11.उम्मीदों के दामन में जिन्दा है हम वरना जीने की चाहत कहाँ  तुमसे मिलने की आरज़ू लिए फिरते है दर-ब-दर वरना इस लाश के नसीब में कब्र कहाँ